Random Thoughts

Wo Ujjala hi kya jise diya ka khadar na ho, Wo panchi hi kya jise aasman se prem na ho, Wo phool hi kya jise suraj se sneh na ho, Wo zindagi hi kya jise sangarsh se mohabbat na ho!! -vsk vartamaan mei jo ateet ko leke chale, ateet ko mithaane jo sirf bhavishya ka … More Random Thoughts

Women’s day gift!

A beautiful poem written by Abhishek Solanki on women’s day  🙂 जब कोई तुमसे यह बोले तुम तो देवी हो, उससे तुम सजग रहना. जब कोई तुमसे बोले तुम तो ममता हो, उससे तुम सचेत रहना. जब कोई तुमसे बोले तुम स्नेह की प्रतिमा हो, उससे तुम बच कर रहना. जब कोई तुमसे बोले तुम … More Women’s day gift!

A smoking Chamber

“Didi, I saw a magic today. Come soon I will show you.”, screamed my neighbour’s 4 year old son before I could even open the gate completely. Me and his mom stood in-front of him like curious audience and waited for the show to begin. The innocent kid took his pencil, held it firmly between … More A smoking Chamber

नींद की शिकायत…the insomnia!

बहुत दिनों बाद जब मिली मैं नींद से, कहने लगी वो गुस्से में मुझसे, हो गई हो तुम कितनी मतलबी, समय कहाँ मेरे लिए तुम्हारे पास अभी! है मुझे तुम्हारे इन पलकों से शिकायत, मुझसे करते थे वो बेहद मोहब्बत, दिखाएं थे मैंने उन्हें सपने हज़ार, अब उन्ही सपनो ने लाये हमारे बीच ऐ दरार! … More नींद की शिकायत…the insomnia!

कुछ इस तरह….!

एक वादा साथ निभाने का, ख़ुशी और ग़म बांटने का, मीठी बातों में बह गई मै, कुछ इस तरह उसे अपना मान गई मैं! ओस की बूँद सा जो शुरू हुआ था अब बहती नदी बन गया, दिल हर पल उसको देखने तरसता गया, सूरज के किरणों से मिलते ही जैसे खिलते है फूल, कुछ … More कुछ इस तरह….!